बैकफुट पर कांग्रेस ?

0
5
बैकफुट पर कांग्रेस ?
बैकफुट पर कांग्रेस ?

विगत वर्षों से कांग्रेस रेफाल डील पर प्र.मं.मोदी को घेर रही थी और अनिल अम्बानी को व्यक्तिगत आर्थिक लाभ दिलवाने का आरोप लगाती आ रही थी लेकिन  हमारे वायु सेना द्वारा पाकिस्तान के आतंकित ठिकानों को नस्त नाबुत किये जाने के बाद अब मोदी जी कांग्रेस को कटघरे में खड़ा कर दिये हैं | वो कह रहे हैं कि अगर रेफाल हमारे पास होता तो आज स्थिति कुछ दूसरी होती | २००७ से ही युपीए सरकार ने रेफाल खरीदने का प्रस्ताव मंजूर किया पर अदृश्य कारणों से २०१४ तक वो प्रस्ताव फाईलों में दवी रही | कांग्रेस यहाँ  बैकफुट पर दिखती है |

ये बात सही है कि अभी चुनाव का समय है | सरकार के हर कदम को भाजपा और विपक्ष दोनों हीं अपने अपने तरह से व्याख्या कर चुनावी लाभ लेना चाहती है | अब देखिये भारतीय कारवाई में पाकिस्तान के अंदर कितने आतंकी मारे गए  इस पर सरकार का कोई वक्तव्य नहीं है | भाजपा २५० से अधिक बता रही है तो कांग्रेस इसका सबूत मांगती है | कांग्रेस का यह भी कहना है कि भारतीय सेना वहाँ आतंकीयों को मारने गई थी या पेड़ उखाड़ने | पुलवामा अटैक को अटैक नहीं दुर्धटना मानती है | यही बात पाकिस्तान भी कह रहा है | वो भी सबूत माँग रहा है और कांग्रेस भी यही माँग कर रही है | यहाँ भी कांग्रेस बैकफुट पर  दिखती है |

भाजपा कांग्रेस से पूछ रही है कि २६/११ की मुंबई की घटना के बाद सेना ने जबावी करवायी के लिये अनुमति मांगी तो महीनों भर संचिका दबा कर रखने के बाद “no retaliation” लिख कर उसे सेना को क्यों वापस कर दिया गया | जनता की यादों को भाजपा ताजा कर रही है | यहाँ भी कांग्रेस बैकफुट है |

मोदी जी ने कांग्रेस को उलझा दिया है | उसकी ही भाषा पाकिस्तान द्वारा बोला जाना कांग्रेस को नुकसान पहुँचा सकता है | उसमें  हताशापन है | उसे सेना पर भी विश्वास नहीं है पुलवामा की घटना से लेकर आज तक की भारत की करवाई ने कांग्रेस को बैकफुट पर लाकर खड़ा कर दिया है |

Follow @India71_

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here