भाजपा को कुछ और करना है! चुनाव 2019

0
9
भाजपा को कुछ और करना है! चुनाव 2019
भाजपा को कुछ और करना है! चुनाव 2019

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने साढ़े चार वर्षों में जो काम किया है केंद्र की कोई भी सरकार इतने कम समय में इस तेजी से इतना काम नहीं किया था | जिन क्षेत्रों में काम हुआ है उन क्षेत्रों को कार्यसूची में शामिल करना भी बहुतों ने आवश्यक नहीं समझा | गाँव-गाँव, घर-घर शौचालय, गैस कनेक्शन एवं बिजली कनेक्शन पहुँचाने के साथ-साथ देश की सुरक्षा तंत्रों को मजबूत किया गया | सेना का मनोबल ऊँचा करने तथा सैन्य बलों को अत्यन्त आधुनिक हथियारों से लैस किया गया | आम जनता के स्वास्थ्य पर मेडिकल खर्च की भरपाई के लिये पाँच लाख का वीमा देने के साथ-साथ भिन्न-भिन्न स्थानों पर एम्स का निर्माण प्रारम्भ किया गया | प्रधानमत्री आवास योजना के तहत गरीबों को आवास की सुविधा दी गई | रोड एवं परिवहन व्यवस्था में काफी प्रगति हुआ | नेशनल वाटर वेज तैयार किया गया जिसके माध्यम से कोलकाता से वाराणसी तक जहाजरानी से माल ढुलाई प्रारम्भ हो गया | बिना इंजन के एक सौ अस्सी किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से चलने वाली ट्रेन का निर्माण स्वदेशी स्तर पर हो रहा है | उसका ट्रायल सफलतापूर्वक हो गया| ट्रेन का नाम ट्रेन-18 है | योग साधना को विश्व भर में मान्यता मिली | मोदी ने अपनी कूटनीति के बल पर भारत को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलायी | इसरो संस्थान को समृद्ध कर अन्तरिक्ष में विश्व स्तर पर चौथा स्थान पाना हर भारतीय के लिये गौरव की बात है | संस्थान से एक बार में देश-विदेश के 104 सेटेलाइट को एक साथ स्पेस में छोड़ना विश्व में एक रिकॉर्ड है | इज ऑफ़ डूइंग बिज़नेस में विश्वस्तर पर एक सौ चौथे स्थान से ऊपर 77 वें स्थान पर देश को लाना बहुत बड़ी उपलब्धि है | इस तरह सामाजिक एवं तकनीकि क्षेत्रों में काफी प्रगति हुआ है | इन उपलब्धियों की पीछे नोटबंदी  की बड़ी भूमिका रही है | नोटबंदी से बैंकों में अपेक्षा से अधिक रुपये जमा हो गये | जी० एस० टी० लाने के बाद थोड़े समय के लिये विकास दर धीमा रहा मगर अब बढने की रफ़्तार पकड़ ली है | विकासशील देशों में भारत नंबर एक पर है | बहुत से विकसित देशों से हमारी आर्थिक स्थिति मजबूत है | बहुत से मामलों में हम आत्मनिर्भर हो गये | देश से बाहर के लोग अब हमें भी पूछते हैं |

मगर इन सब कारणों से 2019 के संसदीये चुनाव में मोदी जी एवं उनकी पार्टी बहुमत पाकर सत्ता में पुनः आयेगी ? एन० डी० ए० के घटक दल टी० डी० पी० एवं आर० एल० एस० पी० , एन० डी० ए० छोर यु० पी० ए० में चली गई है | शिवसेना भी नाराज चल रही है   न्यूनतम समर्थन मूल्य डेढ़ गुणा बढ़ाने के बाद भी किसान संतुष्ट नहीं है | बेरोजगारी का हऊआ खड़ा किया जा रहा है | जबकि इसे दूर करने के लिये कई कार्यक्रम (जैसे स्टार्ट अप, स्किल डेवलपमेंट, मुद्रा लोन) सफलतापूर्वक चल रहा है | बेरोजगारी दूर करने में मेक इन इंडिया कार्यक्रम भी कामयाव हो रही है | आरक्षण विरोधी आरोप भी सरकार पर लगाये गये हैं | शिक्षा के क्षेत्र में कोई अहम काम नहीं हुआ है | मोदी जी को इसका सही उत्तर देना है |

कांग्रेस के संरक्षक सोनिया गाँधी एवं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी नेशनल हेराल्ड की सम्पतियों को हड़पने के मामले में जेल में रहें या जमानत पर धूमें, आम जनता को कोई लेना देना नहीं | अगुस्तावेस्ट लैंड हेलीकाप्टर खरीद के मुख्य  विचौलिये को भारत लाने का असर उनपर नहीं है | देश की प्रगति से कम मतलब है | भ्रष्टाचारियों पर नकेल कसने, उनको जेल भेजने से जनता को व्यक्तिगत लाभ नहीं मिलने वाला है | भारत की जनता भोली-भाली है अभी भी बहकावे में आ जाती है | झूठ तो दावानल की तरह फैलता है | अब वर्ग विशेष लाभ एक मुद्दा है | किसान चाहते हैं उनका ऋण माँफ हो | डिग्री के हिसाब से कुछ भी ज्ञान हो अथवा नहीं, सरकारी नौकरी चाहिये वो भी डिग्री के लिहाज से | अब तो “और भी तरह” के  बैंक ऋण की माँफी की आवाज़ दवे जुबान से आनी शुरू हो गई है | लोगों को एहसास है कि मोदी जी ने देश को आर्थिक रूप में पाँच ट्रिलियन डॉलर वाले देशों की श्रेणी में लाकर खड़े करने जा रहे हैं | उन्हें जानकारी है देश में पैसे की कमी नहीं है | इसको लेकर किसान अतिउत्साहित है | मोदी सरकार को इन मुद्दों पर सोचना पड़ेगा |

सारी परिस्थितियों पर गौड़ से विचार किया जाय तो निष्कर्स यही आता है कि जनता मोदी जी को ही वोट करेगी | भाजपा को ही बहुमत मिलेगा | मोदी को कोई नहीं रोक सकता | एन० डी० ए० में शामिल पार्टियों को भी उनको अपने दम पर वोट मिलने वाला नहीं है | उनको भी वोट मोदी के नाम ही पर मिलेगा | अभी वही एक आदमी देश में है जिसके इर्द-गिर्द जनता घूम रही है | विरोधियों के पास कोई मुद्दा नहीं रहा है जिसके बल पर वो मोदी को बदनाम करेंगे | विरोधी मोदी की इमानदारी पर जितना सवाल खड़े करेगी उतना ही मोदी जी को फायदा होगा | इन साढ़े-चार साल की अवधि में जनता कई बार मोदी की परीक्षा ले चुकी है | अब मुस्लिम महिलाएं अकेले भी हज पर जा सकती है | तीन तलाक का मुद्दा का बील लोकसभा में पेश किया जा चुका है | राष्ट्रीय सुरक्षा एवं आतंकवाद जैसे मुद्दे पर विरोधी चुप है | मोदी जी  ने इस पर बहुत काम किया है | ये दोनों ही मुद्दे मोदी के लिये रामवाण का काम करेगा | देश की जनता इतनी भी भोली-भाली नहीं है कि वो देश की सुरक्षा एवं आतंकवाद के मुद्दे पर मोदी जी के प्रयास को नकार कर सिर्फ अपना ही हित खोजेगी | 2018 में आज तक 263 आतंकवादी मारे गये | लोग डोकलाम में चीन को पीछे हटते हुए देखा है | सेना द्वारा पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक भी देखा है | इन मुद्दों पर जनता कभी भी समझौता नहीं करेगी |

मगर चुनाव तो चुनाव तो चुनाव है कौन सा मुद्दा कब कहाँ हाबी हो जाय | मोदी जी को याद होगा बाजपेयी जी ने देश की जर्जर आर्थिक स्थिति को पटरी पर ला दिया था | उनके बाद कांग्रेस सत्ता में आई और पाँच साल आराम से काम किया | 2009 में संसदीये चुनाव से पहले किसानों का कर्ज माँफ कर दिया | फलस्वरूप 2009 में वह पुनः सत्ता में आई | उस बार कांग्रेस को आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ा | यहाँ तक की प्रधानमंत्री को बयान देना पड़ा कि पैसा पेड़ों से नहीं आता है ! 2014 में मोदी के आने के बाद उनके सामने भी आर्थिक संकट था | लेकिन मोदी जी ने अपनी सुझबुझ से इस संकट से देश को बाहर निकला | भारत आज आर्थिक रूप से भी शक्तिशाली हो गया है | इसके कारण जनता की अपेक्षाएं बढ़ना स्वाभाविक है | समय कम है, २०१९ का चुनाव सामने है | मोदी जी को उनकी अपेक्षाओं पर विचार करना चाहिये | दूसरी बार मोदी जी सत्ता में आयें और शेष एवं बचे हुए कार्यों को आगे बढ़ायें | जनता आश्वान्वित है |

Follow @India71_

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here