इस साल की होली राष्ट्र को समर्पित

0
6
इस साल की होली राष्ट्र को समर्पित
इस साल की होली राष्ट्र को समर्पित

रंगों का त्योहार होली | बुराई पर अच्छाई की जीत की ख़ुशी में हम इस त्योहार को मनाते आ रहें हैं | आज हीं के दिन गोद में लेकर प्रह्लाद को जलाने के उद्येश्य से आग में बैठी होलिका खुद जल गई और प्रह्लाद भगवान की अदृश्य शक्ति से बच गया | होलिका बुराई की प्रतीक थी और प्रह्लाद अच्छाई का | इसी ख़ुशी में रंगों का त्योहार हम मस्ती एवं उमंग के साथ मनाते हैं | न कोई छोटा न कोई बड़ा , न कोई ऊँच न कोई नीच | कल कितना अच्छा संयोग था ! होलिका दहन के दिन समझौता एक्स्प्रेस ब्लास्ट केस  के मुख्य आरोपी असीमानंद को कोर्ट ने इज्जत के साथ बरी कर दिया गया | असीमानंद का बरी होना अच्छी बात रही पर सबसे अच्छी बात यह रही कि पिछले कुछ वर्षों से हिंदुत्व आतंकवाद की परिकल्पना को जो जोड़ शोर से फैलाया जा रहा था वो स्वत: सदा सदा के लिये होलिका दहन के साथ जल गया | यह भी बुराई पर अच्छाई की जीत है | अभी अभी हमारे सैनिकों द्वारा पाकिस्तान में आतंकी ठिकानो को बर्बाद करना भी इसी पहलू का एक उदाहरण है |

होली के रंग और उमंग के साथ देश में चुनावी रंग भी चढ़ा हुआ है |  इन रंगों में रंगने के लिये कुछ लोगों के बीच होड़ मची है | पर सबका नसीब कहाँ | रंगों पर जनता की पहरेदारी है | कितने बदरंग हो जायेंगे | कितनों पर दूजा रंग चढ़ेगा | इस बार की होली वर्षों तक याद की जायेगी |

Follow @_India71

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here