मोदी और सी जिंगपिन अच्छे दोस्त – चीन के उप विदेश मंत्री झांग हन्हुई

0
4
मोदी और सी जिंगपिन अच्छे दोस्त - चीन के उप विदेश मंत्री झांग हन्हुई
मोदी और सी जिंगपिन अच्छे दोस्त - चीन के उप विदेश मंत्री झांग हन्हुई

चीन के उप विदेश मंत्री ने किर्जिस्तान में १३-१४ जून को होने वाली संघाई सहयोग संगठन की बैठक से अलग “दो अच्छे मित्र” मोदी और सी के बीच एक महत्वपूर्ण बैठक होगी | चीन के उस मंत्री के ये तीन शब्द आज से लगभग ५८ वर्ष पहले “हिंदी चीनी भाई भाई” के नारों को याद दिला दिया है | परन्तु उस समय और आज के हालत में काफी बदलाव हुआ है | क्या चीन डोकलाम की घटना को भुला दिया है? क्या अरुणाचल की सीमा पर चीनी सैनिकों का जमाबड़ा लौट चुका है | चीन की विस्तार वादी नीति उसके डीएनए में है | भारत की विदेश नीति से बढ़ती हुई ताकत चीन कभी भी बर्दास्त नहीं करेगा | आर्थिक मामलों में भी भारत अपनी स्थिति मजबूत करती जा रही है | पाक के आतंकी ठिकानो पर सर्जिकल स्ट्राइक भारत की सामरिक शक्ति के साथ उसकी दृह इच्छा शक्ति को दर्शाता है | इन सब चीजों के आलोक में चीन सीधे भारत के साथ युद्ध नहीं करना चाहेगा और न हीं दुबारा १९६२ की लड़ाई दुहरा सकता है | लेकिन अपने चरित्रगत नीति के कारण वो भारत के साथ छल कर सकता है | इसलिए चीन के मंत्री की मित्रता वाली बयान पर सतर्कता जरूरी है |

नरेन्द्र मोदी के पिछले पांच सालों के कार्यकाल में भारत के सम्बन्ध अमेरिका और यूरोप के देशों से अच्छे बने हैं | एशियाई देशों में भी भारत के प्रति विश्वसनीयता बढ़ी है | भारत विश्व व्यापारिक समुदाय के लिये बहुत बड़ा बाजार है | बाजार के हित को लेकर ट्रम्प प्रशासन ने मोदी की भावनाओं से प्रभावित होकर “अमेरिका अमेरिकन्स के लिये” की नीति पर काम करने के प्रयास के अन्तर्गत चीन पर दबाव बना रहा है और व्यापारिक शुल्कों में बढ़ोतरी

का प्रस्ताव दिया है | चीन इसे ऐशियायिक देशों के लिये खतरा बता कर भारत के सह्योग से अमेरिका के प्रस्ताव का विरोध करना चाहता है | मोदी और सी जिनपिंग की सम्भावित बैठक का एक मुख्य मुद्दा. यह भी हो सकता है | दूसरा मुद्दा आतंकवाद का हो सकता है | प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने मालदीव के दौरे में स्पष्ट रूप से कहा-“आतंकवादियों का न तो कोई अपना खाता होता हैः और न तो कोई टक्साल रहता है तो फिर उसके पास पैसे कहाँ से आते हैं और हथियार कहाँ से आता है | विश्व में आतंकवाद के मुद्दे पर मोदी जी के बढ़ते कद से चीन सशंकित है | चोर के दाढ़ी में तिनका | अभी जरुरत उसको है | हमें सावधानी बरतनी है उसके झांसे से |  

Follow @India71_

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here