विपक्ष से ममता अघोषित प्रधानमंत्री -चुनाव 2019 !

0
6
विपक्ष से ममता अघोषित प्रधानमंत्री -चुनाव 2019 !
विपक्ष से ममता अघोषित प्रधानमंत्री -चुनाव 2019 !

जनवरी 19, 2019 को ममता बनर्जी ने कोलकाता में एक रैली का आयोजन किया| रैली की सफलता के लिये  अन्य विपक्षी दलों के नेताओं मल्लिकार्जुन खड्गे, मनु सिंघवी, शरद पवार, अखिलेश यादाव, चन्द्र बाबू नायडू, कुमारस्वामी, अरविन्द केजरीवाल सरीखे लोग मंचासीन हुए | देश के बाईस विपक्षी दलों के नेता सम्मिलित थे | रैली के मंच पर अध्यक्षता करने वाली ममता बनर्जी ने कहा “बीजेपी को हटाना मेरा मुख्य मुद्दा है, बीजेपी आई तो देश गया, प्रधानमंत्री कौन बनेगा ये मुद्दा नहीं है, “मंच पर बैठे सभी लीडर हैं” | साथ बैठे नेताओं ने मोदी हटाओ, भाजपा हटाओ का नारा दे कर ममता द्वारा प्रकट किये गये विरोध में हामी भर दी | देश में  वर्तमान किसी भी मुद्दे पर कोई गम्भीर चर्चा नहीं हुई, न हीं किसी के पास कोई अपना एजेंडा था | इस तरह चुनाव से लगभग 2 महीने पहले प.बंगाल की सत्ता पक्ष पार्टी द्वारा आयोजित रैली में अन्य साथी दलों द्वारा ममता के मुद्दे को समर्थन देना इस बात का संकेत करता है कि प्रधानमंत्री पद पर ममता की दावेदारी को उनका समर्थन है | साथ हीं ममता ने प. बंगाल की जनता को समझाने में सफलता पायी कि उनके समर्थन के साथ साथ  देश के सभी दलों (भाजपा को छोड़ कर) का उनके लिये समर्थन है | जनता के बीच उन्होंने संदेस दिया कि उनका कद् ऊँचा हैं |   

यहाँ बसपा की अध्यक्षा मायावती का उल्लेख होना जरूरी है | मायावती बहुत हीं कुटनीतिक महिला है | वो यु.पी. में सपा के साथ होते हुए भी ममता के महागठबंधन की रैली का हिस्सा नहीं बनकर यह बता दिया है की उनके पास बहुत सारे पत्तें हैं जिन्हें आवश्यकता पड़ने पर कभी भी खोला जा सकता है |

Follow @India71_

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here