बिहार विधानसभा चुनाव: सीट बटवारे के साथ ही महागठबंधन में टूट हो गई

0
27
बिहार विधानसभा चुनाव: सीट बटवारे के साथ ही महागठबंधन में टूट हो गई
बिहार विधानसभा चुनाव: सीट बटवारे के साथ ही महागठबंधन में टूट हो गई

सीट बटवारे के ऐलान के साथ ही महागठबंधन में टूट हो गई है। विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने महागठबंधन छोड़ने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि अति पिछड़ा समाज से होने के कारण राजद ने धोखा दिया है। अति पिछड़ा वर्ग के लोग राजद को इस चुनाव में इसका जवाब देंगे।

दरअसल, शनिवार की शाम पटना के मौर्या होटल में बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए महागठबंधन में सीट शेयरिंग का ऐलान हुआ। इस दौरान तेजस्वी यादव ने बताया कि कांग्रेस 70, राजद 144 और वाम दल की पार्टियां 29 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि राजद के कोटे की सीटों में से विकासशील इंसान पार्टी और झारखंड मुक्ति मोर्चा को दिया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी पार्टी के लिए सीटों का ऐलान नहीं होने से नाराज मुकेश सहनी ने महागठबंधन से नाता तोड़ लिया। उन्होंने कहा कि मैं रविवार को 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आगे के निर्णय के बारे में बताऊंगा।

भरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुकेश सहनी के इस ऐलान को राजद ने सुनियोजित घटना करार दिया है। राजद का कहना है कि जब सब बातचीत हो गई थी, उसके बाद इस तरह से घोषणा करना बताता है कि किसी और के इशारे पर किया गया काम है। मुकेश सहनी की पार्टी का कहना है कि 25 सीट और डिप्टी सीएम के पद पर बात हुई थी लेकिन पीसी में इस संबंध में कोई घोषणा नहीं हुई। यह अति पिछड़े वर्ग के लोगों के साथ राजद का धोखा है।

महागठबंधन में हुई टूट पर जदयू ने भी राजद और तेजस्वी यादव पर निशाना साधा है। अजय आलोक ने कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में तेजस्वी यादव कह रहे थे कि वे ठेठ बिहारी हैं और उनका डीएनए भी शुद्ध है। बिहार की जनता एक बार भरोसा करे तो हम सारे वादे पूरा करेंगे। अजय आलोक ने कहा कि उनके सहयोगी उन पर भरोसा नहीं कर रहे हैं और पीसी के बीच गठबंधन छोड़ रहे हैं तो उन पर बिहार की जनता क्या भरोसा करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here