नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का देशव्यापी हड़ताल

0
26

कोलकाता में लेफ्ट ट्रेड यूनियन के सदस्यों का विरोध-प्रदर्शन

सरकार द्वारा नए किसान कानून को लेकर देशभर में इसका विरोध किया जा रहा है। इसी को लेकर बंगाल में लेफ्ट ट्रेड यूनियन ने किसानों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया है, साथ ही नए लेबर लॉ का विरोध किया। तो वहीं दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में भी कृषि कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

दिल्ली चलो आंदोलन

आज उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के किसान संगठनों ने ‘दिल्ली चलो’ मार्च बुलाया है। किसान आंदोलन को देखते हुए दिल्ली प्रशासन अलर्ट पर है और राजधानी की शांति व्यवस्था भंग न हो इसके लिए कई इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के तमाम बॉर्डर सील कर दिए हैं और वहां बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं इसके अलावा स्थिति पर नज़र रखने के लिए पुलिस ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है। वहीं हरियाणा ने भी पंजाब से लगती सीमा को भी सील कर दिया है। साथ ही दिल्ली डीएमआसी ने भी हरियाणा और उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाली मेट्रो सेवाओं को दोपहर दो बजे तक के लिए स्थागित कर दिया है। हालाँकि दिल्ली मेट्रो की सेवाएं दोपहर 2 बजे के बाद सभी लाइनों पर फिर से शुरू हो जाएंगी।

तो वहीं किसानों के ‘दिल्ली चलो’ आंदोलन को देखते हुए फरीदाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार फरीदाबाद पुलिस ने बताया,”हमारी टीम हर बॉर्डर पर तैनात है, हमें सरकार और विभाग के तरफ से निर्देश दिया गया है कि किसानों को 26-27 नवंबर को दिल्ली में प्रवेश न होने दिया जाए” गौरतलब है कि सभी किसान हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा पास किये गए तीन नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here