पीएम नरेन्द्र मोदी के लिए आज पहुंचने वाला है VVIP विमान “एयर इंडिया वन”

0
50
पीएम नरेन्द्र मोदी के लिए आज पहुंचने वाला है VVIP विमान
पीएम नरेन्द्र मोदी के लिए आज पहुंचने वाला है VVIP विमान "एयर इंडिया वन"

राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए दो वीवीआईपी विमान “एयर इंडिया वन” का आर्डर दिया गया था और पहला विमान आज भारत आने वाला है।

देश के वीवीआईपी के लिए Special Extra Section Flight (एसईएसएफ) आज दिल्ली के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आ रहा है।

अगस्त में एयर इंडिया के वरिष्ठ अधिकारियों, सुरक्षा अधिकारियों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों की टुकड़ियां SESF या वीवीआईपी विमान “एयर इंडिया वन” की डिलीवरी स्वीकार करने के लिए अमेरिका गए थे।

वीवीआईपी फ्लाइट “एयर इंडिया वन” की डिलीवरी को लेने के लिए नेशनल कैरियर एयर इंडिया के वरिष्ठ अधिकारी, वीवीआईपी सुरक्षाकर्मियों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों की एक संयुक्त टीम अमेरिका में है।

एयर इंडिया वन एक उन्नत और सुरक्षित संचार प्रणाली से लैस है जो हैकिंग या टेप किए जाने की चिंता के बिना ऑडियो और वीडियो संचार कार्यों का हवा में लाभ उठाया जाता है।

वीवीआईपी विमान बी-777 वाइड बॉडी वाले विमान बोइंग बी-747 जंबो विमान का रिप्लेसमेंट है जिसका कॉल साइन एयर इंडिया वन है। विमान का आंतरिक डिजाइन बहुत ही आकर्षक है, जिसे हाल ही में बोइंग द्वारा मॉडिफाई किया गया था।

विमान में वीवीआईपी के लिए बड़ा सूट/केबिन है, विमान में एक मिनी मेडिकल सेंटर भी बनाया गया है। इसमें प्रेस के लिए भी जगह है। पीछे की सीटें इकोनॉमी क्लास कैटेगरी की हैं जबकि बाकी सीटें बिजनेस क्लास की हैं। B777 विमान लगातार 17 घंटे से अधिक उड़ान भर सकता है।

एयर इंडिया को विमान मिलेगा जिसे बाद में भारतीय वायुसेना (IAF) को सौंप दिया जाएगा। उसके बाद नए विमानों का पंजीकरण डी-रजिस्टर्ड किया जाएगा और नए सिरे से पंजीकरण एसओपी को इस प्रक्रिया में रखा जाएगा क्योंकि वीवीआईपी विमान भारतीय वायुसेना के तहत काम करेंगे।

एयर इंडिया के पायलट भी विमान ऑपरेटिंग टीम का हिस्सा होंगे, जब तक भारतीय वायुसेना के पायलट वैरिएंट को संभालने में विशेषज्ञता हासिल नहीं कर लेते। एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड (एआईईएसएल) विमान के रखरखाव का ध्यान रखेगी।

वीवीआईपी के लिए नया बोइंग 777 विमान उन्नत रक्षा प्रणालियों से सुसज्जित है और इसे भारतीय वायुसेना के पायलटों द्वारा पूरी तरह से संचालित किया जाएगा।

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के सिफारिशों के अनुसार विमान के डिजाइन औररंग में बदलाव किये गए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here